भारतीय मूल के बच्चे ने दुबई में गाड़े झंडे, गूगल विज्ञान मेले के फाइनल में बनाई जगह

0
131
गूगल विज्ञान मेले

स्ट्रीट लाइट को स्मार्ट बनाने की अपनी परियोजना के लिए दुबई के एक भारतीय लड़के ने गूगल विज्ञान मेले की वैश्विक प्रतियोगिता के लिए शीर्ष 100 क्षेत्रीय लोगों के साथ फाइनल में स्थान बनाया है। मीडिया ने इस बात की जानकारी दी। गल्फ न्यूज ने बताया कि इंडियन हाई स्कूल दुबई में पढ़ने वाले 11वीं कक्षा के छात्र शैमिल करीम को हजारों प्रविष्टियों में से चुना गया।

गूगल विज्ञान मेले

शैमिल करीम परियोजना में इस बात को दर्शया गया कि अगर कोई व्यक्ति या कार रास्ते से जा रही है, तो आने वाली स्ट्रीट लाइट तेज रोशनी प्रदान करेगी और पीछे वाली छूट गई स्ट्रीट लाइट अपने आप मध्यम हो जाएगी। इससे ऊर्जा की काफी बचत होगी।

मूल रूप से चेन्नई का रहने वाला 15 वर्षीय करीम कंप्यूटर से लगाव रखता है। उसने कहा कि उसके पिता ऊर्जा की बचत के समाधान के लिए उसकी प्रेरणा हैं।

उसने गल्फ न्यूज को कहा, “हम एक पार्क में देर रात को बैठे थे और वहां सारी लाइटें जल रही थी। मेरे पिता ने कहा, क्या हम इसके लिए कुछ नहीं कर सकते हैं? इसके बाद मैंने निर्णय किया कि स्ट्रीट लाइट को स्मार्ट बनाऊंगा और इसके लिए परियोजना तैयार करुंगा।”

करीम ने आगे कहा कि उसकी परियोजना इंफ्रारेड सेंसर बेस्ड से 63 प्रतिशत सस्ती होगी। वैश्विक 20 फाइनलिस्टों की इस महीने घोषित होने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here