अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ

0
116
अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
AppleMark

फेसबुक ने अब अकाउंट्स की सेफ्टी के लिए यूजर्स को कुछ बेहद खास टूल्स उपलब्ध कराने शुरू कर दिए हैं

फेसबुक इस वक्त दुनिया का सबसे पॉप्युलर सोशल नेटवर्किंग प्लैटफॉर्म है। दुनियाभर के करोड़ों लोग इसके जरिए अपने फ्रेंड्स और फैमिली से जुड़े रहते हैं। अगर बात की जाऐ भारत की तो यहां यूर्जस की संख्या करोड़ो में है। तो वहीं पिछले कुछ समय में डेटा लीक और हैकिंग के मामलों ने फेसबुक की सिक्यॉरिटी और प्रिवेसी पॉलिसी पर सवाल जरूर खड़े कर दिए हैं और यूजर्स को इस प्लैटफॉर्म पर सुरक्षा और प्रिवेसी की चिंता होने लगी है।

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
फेसबुक ने अब अकाउंट्स की सेफ्टी के लिए यूजर्स को कुछ बेहद खास टूल्स उपलब्ध कराने शुरू कर दिए हैं जिनसे यूजर्स अपने अकाउंट को लीक और हैकिंग जैसी घटनाओं से बचा सकते हैं। आइए जानते हैं क्या हैं वे टूल्स और कैसे इनका इस्तेमाल कर फेसबुक पर सेफ रहा जा सकता है।

न्यूज फीड को पर्सनलाइज करें

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
इसकी मदद से आप समझ सकते हैं कि क्यों आपको किसी खास तरह के ही पोस्ट ज्यादा दिख रहे हैं। फेसबुक ऐसे पोस्ट्स को कम करने के लिए कुछ शॉर्टकट्स देता है जिससे की यूजर्स अपने न्यूज फीड को अपनी पसंद के पोस्ट्स के लिए न्यूज फीड को पर्सनलाइज कर सकते हैं।

फेसबुक डेटा को मैनेज करें

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
यह नया प्रिवेसी शॉर्टकट यूजर्स को एक मेन्यू देता है जहां वे कुछ टैप के जरिए अपने डेटा को कंट्रोल कर सकते हैं। साथ ही फेसबुक यह भी बताता है कि नया शॉर्टकट आपके डेटा को कैसे कंट्रोल करेगा। फेसबुक पर अब यूजर्स को अडवांस कंट्रोल ऑप्शन मिलने लगे हैं जहां यूजर यह तय कर सकते हैं फेसबुक कैसे और कहां यूजर के डेटा का इस्तेमाल करेगा। यूजर्स अपने लोकेशन डेटा को मैनेज करने के साथ ही फेसबुक पर अपलोड होने वाले कॉन्टैक्ट्स, फेस रेकॉग्निशन सेटिंग, ऐड प्रेफरेंस जैसी चीजों को मैनेज कर सकते हैं।

लॉगइन के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
फेसबुक यूजर्स के लिए एक खास तरह का सिक्यॉरिटी फीचर लेकर आया है जिससे आप पासवर्ड के अलावा भी फेसबुक अकाउंट को और सेफ बना सकते हैं। यह फीचर है टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन। अगर आप इस फीचर को ऐक्टिवेट करते हैं तो जब कोई गलत तरीके से आपके अकाउंट में लॉगइन करने की कोशिश करेगा तो आपके पास एक स्पेशल लॉगइन कोड आएगा जिसे एंटर कर आपको कन्फर्म करना होगा कि वह लॉगइन आपके द्वारा या आपकी जानकारी में हो रहा है।

ऐप्स के डेटा को सीमित करें

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
इस फीचर से फेसबुक ने दूसरे ऐप्स के द्वारा रिक्वेस्ट किए जाने वाले डेटा को कम करने की कोशिश की है। ये ऐप्स अभी केवल यूजर के प्रोफाइल फोटो, नाम और ईमेल अड्रेस को ऐक्सेस कर सकते हैं। इसके अलावा किसी और जानकारी के लिए इन्हें पहले फेसबुक अकाउंट होल्डर की परमिशन लेनी होगी।

रिपोर्ट अब्यूज

अब प्राइवेसी के साथ फेसबुक अकाउंट को बनाएं सेफ
इस फीचर के जरिए अब यूजर्स गलत फोटो, विडियो, पोस्ट को फेसबुक पर रिपोर्ट कर सकते हैं। जब भी फेसबुक पर किसी पोस्ट को रिपोर्ट किया जाता है तो फेसबुक उसे रिव्यू करता है। रिव्यू में अगर फेसबुक ने पाया कि वह पोस्ट कंपनी की पॉलिसी और कम्युनिटी स्टैंडर्ड नहीं है तो वह उसे अपने प्लैटफॉर्म से हटा देगा। बता दें कि फेसबुक रिपोर्ट अब्यूज करने वाले यूजर की पहचान गुप्त रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here